Breaking news

मौसम पूर्वानुमान: उत्तर पूर्वी डिक्षोभ सक्रिय, कई राज्यों में होगी झमाझम बारिश, पश्चिमी विक्षोभ से बदलेगा मौसम

मौसम पूर्वानुमान: उत्तर पूर्वी डिक्षोभ सक्रिय, कई राज्यों में होगी झमाझम बारिश, पश्चिमी विक्षोभ से बदलेगा मौसम
Share with Friends


आज मौसम का पूर्वानुमान

दिल्ली में शुक्रवार को आम तौर पर बादल छाये रहेंगे और हल्की बारिश होने की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी है। आईएमडी के अनुसार दिल्ली में जहां अधिकतम तापमान 30.7 डिग्री दर्ज किया गया है, वहीं इस मौसम का औसत तापमान एक डिग्री से अधिक दर्ज किया गया है, जबकि शहर का न्यूनतम तापमान 15.5 डिग्री दर्ज किया गया है। , जो सामान्य से एक डिग्री अधिक है.

मौसम पूर्वानुमान

तमिल में भी बारिश हो रही है. गुरुवार को चेन्नई शहर के कई विचारधाराओं में तेज बारिश हुई।

मौसम पूर्वानुमान

स्काईमेट वेडर के अनुसार एक निम्न दबाव का पूर्वी क्षेत्र अरब सागर के ऊपर बना हुआ है। वहीं, कोमोरिन क्षेत्र पर एक समुद्री मील का पत्थर क्षेत्र बनाया गया है। वहीं, पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय पर है।

मौसम पूर्वानुमान

इस कारण पिछले 24 घंटों के दौरान केरल, तमिलनाडु और कर्नाटक में मध्यम से भारी बारिश हुई। दक्षिणी मध्य महाराष्ट्र में तेज से मध्यम वर्षा के साथ एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा हुई। आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कोंकण और गोवा और मराठ वाहनों में हल्की से मध्यम बारिश हुई।

मौसम पूर्वानुमान अपडेट

वहीं, अगले 24 घंटों के दौरान तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, दक्षिण कोंकण और गोवा तथा दक्षिण मध्य महाराष्ट्र में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है।

मौसम पूर्वानुमान अपडेट

लक्षद्वीप, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कुछ आदर्शों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो बार भारी बारिश हो सकती है। वहीं, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कुछ अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। 24 घंटे के बाद उत्तराखंड में तेज़ बारिश और बारिश की संभावना है।

मौसम पूर्वानुमान

इसके अलावा पंजाब में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। उत्तर पश्चिमी राजस्थान, हरियाणा, सिक्किम और असम में अलग-अलग जगहों पर बारिश हो सकती है।

मौसम पूर्वानुमान

साइंटिस्ट का कहना है कि उत्तर पूर्वी डिजायन के सक्रिय होने का कारण तमिलनाडु में गुरुवार को भारी बारिश हुई और इसका सबसे ज्यादा असर दक्षिणी आस्कर में देखा गया। वर्षा और विश्राम की वजह से मदुरै, तेनी, डिंडुक्कल, तिरुनेलवेली, तेनकाशी, तिरुनेलवेली, तेनकाशी, तिरुवनंतपुरम और कोयम्बत्तूर के आभूषणों के स्थान, नीलगिरि जिले के चार ताल वजनी सहित कई स्मारकीय प्रशासन ने आज ज्वालामुखी में छुट्टी घोषित कर दी।

मौसम पूर्वानुमान

नीलगिरि जिले के कोटागिरि में सबसे अधिक 228 गेहूं वर्षा दर्ज की गई। नीलगिरि माउंटेन रेलवे लाइन पर लगातार बारिश के कारण लगभग पांच जगहों पर कब्जा हो गया। जिस कारण माउंटेन ट्रेन सेवा रद्द कर दी गई। कोटागिरी में भी विद्युतीकरण हुआ, जिससे सड़क यातायात प्रभावित हो गया।

मौसम पूर्वानुमान

आरएमसी के अनुसार, तेनकाशी, तेनी, डिंडुक्कल, मदुरै, विरुधुनगर, तिरुनेलवेली, थूथुकुडी, शिवगंगा, मीरापुरम, चेंगलपट्टू, कांचीपुरम, तीर्थवन्नायलाई और तीर्थवल्लुर में गार के साथ मध्यम वर्षा हुई।

(टैग्सटूट्रांसलेट)मौसम पूर्वानुमान(टी)मौसम समाचार(टी)उत्तर पूर्वी मानसून सक्रिय(टी)पश्चिमी विक्षोभ(टी)दिल्ली में बारिश(टी)मुंबई में बारिश(टी)आईएमडी अलर्ट(टी)पश्चिमी विक्षोभ(टी)उत्तर पूर्वी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *