Breaking news

रात 10 बजे तक ही ग्रैंड स्टॉक: रांची में 25% तक की कीमत, 65 करोड़ रुपए का हुआ कारोबार

रात 10 बजे तक ही ग्रैंड स्टॉक: रांची में 25% तक की कीमत, 65 करोड़ रुपए का हुआ कारोबार
Share with Friends


राँची16 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रात 10 बजे तक ही ग्रैंड ब्रिज

राजधानी रांची में हर साल के स्टूडियो में आतिशबाजी का कारोबार इस साल 25 फीसदी तक बढ़ा है। जिला प्रशासन की ओर से पूरी राजधानी के पांच अलग-अलग देशों में पटाखा बाजार लगाया गया है। इसके अलावा लगभग हर घर में छोटे-बड़े चिप्स लगे हुए हैं। ऐसे में शनिवार की देर रात तक करीब 65 करोड़ रुपए का बिजनेस होने का अनुमान लगाया गया है। वहीं इस साल ग्रीन वार्निश का बाजार खूब चल रहा है। आतिशबाजी ग्रीन की रेंज हर उम्र के लोगों के लिए उपलब्ध हैं। प्रदूषण की कम संभावना को देखते हुए ऐसे पुरास्थल की दुकान लोग कर रहे हैं।
पॉल्यूशन फ्री आतिशबाजी का बड़ा रेंज
रांची के फार्मास्युटिकल पॉल्यूशन में मुफ्त पटाखों की बड़ी रेंज उपलब्ध है। बच्चों में स्काई क्रेडिट का काफी क्रेज देखने को मिला। असल की बात तो ऐसा नहीं है कि पुतले की बिक्री सिर्फ आज तक ही होगी। खरीदारी का यह क्रम छठ पूजा तकरीज़ रहता है। पुतले ग्रीन को लेकर लोगों के बीच काफी आकर्षण देखने को मिल रहा है। पटाखा विक्रेता राज वर्मा की वैल्युएट तो कॉमर्स तरह की विक्रय सूची अवश्य जारी की गई है, जिसकी खरीदारी भी महंगी हो रही है। केवल रांची में ग्रीन वार्निश की मांग 30 प्रतिशत तक है।
बाज़ार में हर रेंज के अब भी बम
रांची में हरा और सामान्य दोनों तरह के आतिशबाजी का बड़ा रेंज उपलब्ध है। जिसमें कलर कोटि अनार्य, कलर स्मोक, रिकॉल कैस्टर से लेकर मल्टी शॉर्ट के कई रेंज बिक रहे हैं। जहां कीमत की बात करें तो बाजार में 30, 60 और 100 टाइप के स्काई शॉट्स की खास मांग है। अन्य कीमत 650 से लेकर 2600 रुपये तक है। वहीं एक हजार से लेकर 10 हजार तक की चटाई बम की भी मांग है। ग्रीन 100 रुपये से लेकर 6000 रुपये तक के ग्रीन बाजार में उपलब्ध हैं। इनमें सेवन साउंड, अनार, राकेट, जलेबी, गडजिला बम, तोता बम, कलर-बिरंगी फुलझड़ी, स्वास्तिक व्हील, हेलिकाप्टर शेयरहोल्डर, 30 शॉट्स, 50 शॉट्स, हंटर कलर, कलर्ड अनारा आदि शामिल हैं।
रांची में यहां साजी की दुकान है
जिला प्रशासन की ओर से राजधानी के गुप्त ओपन प्लेस में पटाखों की बिक्री जारी है। प्रत्येक कलस्टर के लिए आईएसओ की संख्या निर्धारित की गई है। जिला स्कूल में 10, जयपाल सिंह मुंडा स्टेडियम में 16, हरमू मैदान में 10 से 12 और डोरंडा व चुटिया मैदान में स्थित पटाखा दुकान के लिए भी संख्या दर्ज की गई है। वहीं इन जगहों पर दुकान में सजावटी सामान के अनुसार इस साल सभी पुतलों की कीमत 25 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *