Breaking news

Green Card Ration Scheme: झारखंड में गरीबों की भुखमरी

Green Card Ration Scheme
Share with Friends

Green Card Ration Scheme: गढ़वा के डंडई प्रखंड कार्यालय के पास रह रहे मुसहर परिवार के लोगों को पिछले 7 महीनों से राशन नहीं मिला है। उनके सामने अब भुखमरी की नौबत आ गई है। सुखाड़ होने के कारण उन्हें अब भीख भी नहीं मिलती है। सरकारी अनाज नहीं मिलने से गरीब परिवार के लोग परेशान हैं।

मौत भोजन की कमी से: 50 वर्षीय सुरेश मुसहर का मामला

बुधवार को 50 वर्षीय सुरेश मुसहर की मौत भूख जनित (starved to death) बीमारी (भोजन न मिलने के कारण) से होने का मामला सामने आया है। मृतक के परिवार वाले जिनमें शंकर मुसहर, उमेश मुसहर, दिनेश मुसहर, महेंद्र मुसहर आदि ने बताया कि हमें पिछले सात माह से राशन नहीं मिल रहा है। गांव देहात में सुखाड़ की नौबत से भीख भी नहीं मिलती है। समय पर खाना नहीं मिलने के कारण सुरेश मुसहर कमजोर हो गया था, जिससे उसकी मौत (starved to death) हो गई।

राशन कार्ड योजना में असफलता: गरीबों को भोजन की तलाश में

Green Card Ration Scheme: झारखंड सरकार (हेमंत सोरेन) की महत्वाकांक्षी ग्रीन कार्ड राशन योजना पूरी तरह से बेकार हो चुकी है। आठ माह से गरीब चावल के इंतजार में हैं। वर्तमान में राज्य में गरीबों को फरवरी माह का राशन मिल रहा है। राज्य के 485806 ग्रीन कार्डधारी गरीब परिवार के लोग सरकारी अनाज नहीं मिलने से परेशान हैं।

अनाज की कमी से गरीबों की समस्या बढ़ रही

Green Card Ration Scheme: आठ महीने से उन्हें सरकारी (हेमंत सोरेन) अनाज नहीं मिल रहा है। एफसीआई गोदाम से ग्रीन राशन कार्ड धारकों (green card ration scheme) के लिए अनाज ही नहीं मिल रहा है। राज्य सरकार (हेमंत सोरेन) आवंटन नहीं दे रही है। इसके बाद वह हार कर घर लौट जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: Narendra Modi Letter: झारखंड सीएम हेमंत सोरेन ने प्रधानमंत्री से पत्र लिखा

YOUTUBE

One thought on “Green Card Ration Scheme: झारखंड में गरीबों की भुखमरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *